ड्रॉय फ्रूट्स का बिजनेस कैसे शुरू करे (पैकिंग, सेलिंग, लागत, लाभ)

ड्राई फ्रूट्स का बिज़नेस, व्यवसाय, पैकिंग, सेलिंग, लागत, लाभ, लाइसेंस (Dry Fruit Gift Packing Business Ideas in Hindi) (Selling, Investment, Profit, License, Marketing Research)

ड्रॉय फ्रूट्स एक ऐसी चीज है जिसका इस्तेमाल सभी के घरों में  होता है , सभी लोग इन्हें बहुत पसंद करते है बच्चे हो या बुजुर्ग सभी वर्ग  के लिए इसका सेवन सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है . वैसे तो मिठाइयों में भी ड्रॉय फ्रूट्स का उपयोग बड़ी मात्रा में किया जाता है . लेकिन पिछले कुछ समय में मिठाइयों में मिलावट बहुत अधिक मात्रा में बढ़ गयी है , खासतौर से त्योहारों पर मिठाइयों की मांग के साथ – साथ इनमे मिलावट भी बहुत ज्यादा बढ़ जाती है . ऐसे में लोग मिठाइयाँ न खरीद के ड्रॉय फ्रूट लेना ही  ज्यादा पसंद करते है . इसलिए ड्रॉय फ्रूट का बिजनेस भी दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है . ऐसे में कोई भी इस बिजनेस को शुरू कर के अच्छा  खासा पैसा कमा सकता  है . आजकल त्योहारों या उत्सवों पर ड्रॉय फ्रूट्स भी गिफ्ट के रूप में दिया जाता है . जिस से इसकी डिमांड और ज्यादा बढ़ गयी है .

आइये जानते है की ड्रॉय फ्रूट्स का बिजनेस कैसे कर सकते है

 ड्रॉय फ्रूट्स के बिजनेस की शुरुआत के लिए आपको सबसे पहले किसी अच्छे होलसेल मार्किट से ड्रॉय फ्रूट्स या सूखे मेवे खरीदना है होलसेल के मार्किट में ड्रॉय फ्रूट्स थोक के भाव में मिलते है .यहाँ से ड्रॉय फ्रूट्स खरीद कर इन्हें आप कस्टमर की मांग के अनुसार अलग – अलग पैकिंग में पैक कर के उनकी जरूरत के हिसाब से उन्हें बेच सकते है इस बिजनेस में अच्छा खासा लाभ कमा  सकते है . आप इन प्रोडक्ट्स को अच्छे तरीके से पैक कर के अपना लेबल लगा कर  मार्किट में बेच सकते है . ड्रॉय फ्रूट का अर्थ है सूखे मेवे जिसमे काजू , बादाम , किशमिश , अंजीर, खारिक , आदि शामिल है . त्योहारों के समय ड्रॉय फ्रूट्स भी गिफ्ट के तौर पर बहुत  अधिक प्रचलित है इन्हें आकर्षक पैकिंग में पैक कर के गिफ्ट के लिए तैयार किया जाता है . आकर्षक पैकिंग के कारण यह और भी अधिक दाम पर बिकते है . समय के साथ – साथ यह मांग आने वाले समय में निश्चित  तौर पर और अधिक बढ़ जाएगी . आप ड्रॉय फ्रूट्स को 2 तरोकों से बेच सकते है खुले भी और पैकिंग वाले भी , इसके अतिरिक्त आप ऑफ लाईन और ऑन लाईन दोनों तरीको से बेच सकते है .

ड्रॉय फ्रुओट्स के बिजनेस के लिए कौन – कौन सी चीजे आवश्यक है

  • ड्रॉय फ्रूट्स कहाँ से ख़रीदे हमारे देश में कई राज्य ऐसे है जहाँ पर ड्रॉय फ्रूट्स की खेती बड़े पैमाने पर होती है , जैसे दक्षिण भारत आदि , इन स्थानों पर आपको सबसे उच्च गुणवत्ता वाला ड्रॉय फ्रूट मिल सकता है , वैसे दिल्ली का चांदनी चौक भी सुखे मेवे के बिजनेस के लिए बहुत प्रसिद्ध है यहाँ पर आपको ड्रॉय फ्रूट्स बहुत ही कम दाम पर और थोक के भाव में आसानी से मिल जायेंगे . यहाँ पर आपको खुले एवं पैकिंग वाले दोनों ही तरह के ड्रॉय फ्रूट्स मिल जायेंगे .
  • स्थान का चयन – किसी भी बिजनेस के लिए उसकी लोकेशन का सही चुनाव बहुत आवश्यक है . सही जगह दुकान का होना बहुत जरुरी है .
  • मेन पॉवर –  शुरुआत में तो इसमें ज्यादा में पॉवर की जरूरत नहीं होती 2 से 3 लोगों के साथ आसानी से यह बिजनेस किया जा सकता है .
  • ऑन लाईन बिजनेस कैसे करे यदि आप ऑनलाइन ड्रॉय फ्रूट्स का बिजनेस शुरू करना चाहते है तो आप अपनी खुद की वेबसाईट बना कर उस पर अपना सामान बेच सकते है या फिर दूसरा तरीका है जिसमे आप पहले से मौजूद ई – कॉमर्स वेबसाइट्स जैसे अमेजन , फ्लिपकार्ट, आदि पर अपना सेलर अकाउंट बना कर आप अपना सामान पुरे भारत में  भी बेच सकते है .

ड्रॉय फ्रूट के बिजनेस के क्या लाभ है

  • इस बिजनेस को ऑनलाईन  और ऑफ लाइन दोनों ही  तरीकों से किया जा सकता है . ऑनलाईन ड्रॉय फ्रूट्स बेचने के लिए फ्लिपकार्ट , अमेजन , बिग बास्केट , ग्रोफ़र्स आदि पर अपना माल बेच सकते है .
  • भारत एक ऐसा देश है जहाँ लगभग पुरे वर्ष त्यौहार और उत्सव चलते ही रहते है जिस से ड्रॉय फ्रूट की मांग पुरे साल बनी रहती है . खासतौर पर सर्दियों के मौसम में ड्रॉय फ्रूट्स की डिमांड ज्यादा बढ़ जाती है .
  • यह बिजनेस शुरुआत में छोटे पैमाने पर घर बैठे भी शुरू किया जा सकता है .
  • ड्रॉय फ्रूट्स का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है जिसमे मिलावट के चांसेस बहुत ही कम होते है .

लायसेंस एवं पंजीकरण की प्रक्रिया

FSSAI लायसेंस – फ़ूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथारिटी ऑफ इण्डिया अर्थात भारतीय खाद्य सुरक्षा मानक प्राधिकरण से प्रमाण पत्र लेना भी आवश्यक है , यह खाद्य पदार्थ की गुणवत्ता के हिसाब से प्रमाण पत्र देता है .

GST GST रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है यह प्रक्रिया आप ऑन लाईन भी कर  सकते है .

इस बिजनेस में निवेश कितना करे

इस बिजनेस को शुरुआत में बहुत ही कम निवेश से शुरू किया जा सकता है क्योंकि इसमें हमे मशीनों की कोई आवश्यकता नहीं होती है तो कोई मशीन खरीदने की आवश्यकता नहीं होती है . यदि पैकिंग कर के ड्रॉय फ्रूट्स बेचना चाहते है तो ज्यादा से ज्यादा आपको सिर्फ पैकिंग मशीन  लेना होगी जिसकी लागत 10,000 तक आएगी . आप इस बिजनेस को 50,000 से भी शुरू  किया जा सकता है .

ड्रॉय फ्रूट्स के बिजनेस में लाभ – ड्रॉय फ्रूट के बिजनेस में आप कम निवेश पर ही अच्छा खासा लाभ कमा सकते है . इस बिजनेस में कम से कम 10 से 20 प्रतिशत तक का मार्जिन रहता है . उदाहरण के लिए यदि आपने 1 महीने में 1 लाख का माल बेचा है तो आप उस पर 20,000 रूपये तक का लाभ आसानी से कमा  सकते है .

ड्रॉय फ्रूट्स के बिजनेस में सफल होने के कुछ उपाय

  • हम सभी जानते है की आज कल इन्टरनेट पर सभी जानकारी उपलब्ध है , तो ड्रॉय फ्रूट्स का बिजनेस शुरू करने से पहले आप इन्टरनेट से सारी  जानकारी प्राप्त कर ले .
  • जो लोग पहले से ड्रॉय फ्रूट्स का बिजनेस कर रहे है उन लोगो से भी बात कर  के जानकारी और उनके अनुभव जुटाए जा सकते है .
  • इस बिजनेस को शुरू करने से पहले हमे मार्केट को अच्छे से जानना और समझना बहुत जरुरी है . इसके लिए अच्छे से मार्किट की रिसर्च बहुत जरुरी है .
  • ड्रॉय फ्रूट्स की डिमांड और कीमत दोनों ही सर्दियों के मौसम में बढ़  जाती  है इसके लिए आप ड्रॉय फ्रूट्स को पहले से कम कीमत में खरीद कर  स्टॉक कर लेते है तो मुनाफा कई गुना बढ़ सकता है . ध्यान रहे  स्टॉक करते समय ड्रॉय फ्रूट्स  का रख – रखाव बहुत ही जरुरी है .
  • आज कल कस्टमर खुले सामान से ज्यादा पैकिंग वाले सामान पर अधिक विश्वास करते है इसलिए आप यदि ड्रॉय फ्रूट्स अच्छे से पैकिंग कर के और उस पर अपनी कंपनी या ब्रांड का लेबल लगा के आसानी से बेच सकते है .
  • यदि शुरुआत में आप इस बिजनेस में ज्यादा पैसा नहीं लगाना चाहते है तो आप किसी ब्रांड की फ्रेंचाइजी लेकर भी बेच सकते है .
  • ड्रॉय फ्रूट्स के बिजनेस में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है ड्रॉय फ्रूट्स का अच्छी गुणवत्ता का होना , तो यह बहुत जरुरी है की गुणवत्ता को बनाये रखे .

ड्रॉय फ्रूट्स के बिजनेस में जोखिम कितना है

इस व्यवसाय में वैसे तो कोई बहुत अधिक जोखिम नहीं है परंतु कभी – कभी मौसम खराब होने की वजह या उचित रख रखाव ना होने की वजह से ड्राई फ्रूट्स में कीड़े पड़ने की संभावना रहती है .जिसका ख्याल समय – समय पर रखना चाहिए. कुछ एंटीबायोटिक्स का उपयोग करके आप अपने माल को सुरक्षित रख सकते हैं . इस असावधानी से बचने के लिए हमे यह ध्यान रखन बहुत जरुरी है की जहाँ ड्रॉय फ्रूट्स का भण्डारण किया गया है वहां साफ – सफाई का विशेष ध्यान रखा जाये .

FAQ

Q : ड्रॉय फ्रूट्स कहाँ से खरीद सकते है ?

Ans : उत्तर भारत या दिल्ली से .

Q : क्या यह बिजनेस ऑन लाईन भी किया जा सकता है ?

Ans : जी हाँ यह बिजनेस ऑन लाईन और ऑफ लाइन दोनों ही तरीकों से किया जा सकता है .

Q : क्या इस बिजनेस के लिए FSSAI का लायसेंस लेना जरुरी है ?

Ans : किसी भी खाद्य पदार्थ की गुणवत्ता प्रमाणित करने के लिए FSSAI लायसेंस जरुरी है .

Q : क्या यह बिजनेस घर बैठे भी किया जा सकता है ?

Ans : हाँ इस बिजनेस की शुरुआत घर बेठे की जा सकती है .

Q : इस बिजनेस में कितने प्रतिशत लाभ की संभावना है ?

Ans : इसमें 10 से 20 प्रतिशत तक का मार्जिन संभव है .

Other Links

  1. अदरक और लहसुन का पेस्ट बनाने का व्यवसाय शुरू करें
  2. टोमेटो सॉस बनाने का व्यापार शुरू करें 
  3. बाथरूम क्लीनर बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें 
  4. जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोलें 

Leave a Reply

Your email address will not be published.