अदरक और लहसुन का पेस्ट बनाने का व्यवसाय शुरू करें | Ginger Garlic Paste Making Business in Hindi

अदरक और लहसुन का पेस्ट बनाने का व्यवसाय शुरू करें, कैसे बनाएं, बनाने का तरीका, विधि, निवेश, लाभ, लाइसेंस (Ginger Garlic Paste Making Business in Hindi) (Recipe, Machine, Price, Benefit, Investment, License)

आज कल बाजार में कई छोटे – छोटे उद्योगों ने देखते ही देखते बड़े व्यापर का रूप ले लिया है . या हम यु कहें की यह छोटे – छोटे उद्योग अब बाजार की जरूरत बन गये है तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी . हम सब जानते है की भारतीय खाने में मसालों की भूमिका बहुत ही अहम होती है . भारतीय व्यंजनों  में कई तरह के मसलों का प्रयोग किया जाता है और उन्ही में से एक है अदरक लहसुन का पेस्ट , जो की हर प्रकार के व्यंजनों  में उपयोग किया जाता है . आज हम विस्तार  से जानेंगे  अदरक लहसुन के पेस्ट के व्यवसाय के बारे में .अदरक एवं लहसुन एक ऐसी फसल है जिसका उतपादन  भारत के लगभग सभी राज्यों में किया जाता है . इसलिए अदरक और लहसुन का पेस्ट बनाने का व्यापार भारत के किसी भी हिस्से में शुरू किया जा सकता है . क्योंकि इस उद्योग के लिए जो आवश्यक कच्चा  माल है अदरक और लहसुन वो आसानी से कहीं भी मिल सकता है .

लोन लेने की सुविधा और पूंजी का निवेश और स्थान का चयन  :-

  • पूंजी निवेश : कोई भी व्यापार  प्रारंभ करने से पहले उसमे कितनी पूंजी का निवेश करना होगा यह पता लगा लेना बहुत जरुरी है . अदरक लहसुन के पेस्ट के व्यापार को प्रारंभ करने के लिए शुरुआत में  ज्यादा पूंजी की आवश्यकता भी नहीं होती है , शुरू में यह व्यवसाय बहुत ही कम पूंजी से शुरू  किया जा सकता है . बाद में उत्पाद की मांग बढ़ने पर इस व्यापर को बड़े पैमाने पर लाया जा सकता है जिसके लिए बहुत सारे  बैंको के द्वारा लोन की सुविधा भी उपलब्ध है , या फिर प्रधानमंत्री मुद्रा योजना से भी 50,000 से लेकर 1,00,000 तक का लोन आसानी से मिल सकता है .
  • स्थान का चयन :- अदरक और लहसुन का पेस्ट बनाने का व्यवसाय शुरुआत में घर से ही शुरू किया जा सकता है , यह व्यापर कम से कम जगह में भी प्रारंभ किया जा सकता है , इसके लिए 1000 या 1500 वर्ग फुट से भी कम जगह ले सकते है .
  • आवश्यक साधन :- इस व्यापर के लिए आवश्यक  साधन है बिजली और पानी . कोई भी ऐसी जगह जहाँ पर बिजली या पानी का साधन आसनी से उपलब्ध हो वह यह व्यापार शुरू किया जा सकता है . यह व्यापार महज 3 या 4 लोगों के साथ ही शुरू किया जा सकता है . जैसे – जैसे पेस्ट की मांग बाजार में बढती है में पॉवर भी बढाया जा सकता है .

कच्चा माल एवं उद्योग के लिए जरुरी सामग्री :-

  • सबसे प्रमुख कच्चा माल अदरक एवं लहसुन है .
  • फ़ूड प्रिसेर्वेटिव सोडियम बेन्जोईट – सोडियम बेन्जोईट का कम खाद्य पदार्थ को लम्बे समय तक सुरक्षित रखना और उसे ख़राब होने से बचाता है .
  • कुछ आवश्यक मसाले .
  • पैकेजिंग सामग्री जैसे – कांच या प्लास्टिक की बोतल , प्लास्टिक पाउच , लेबल सम्बन्धी सामग्री .

मशीन :- इस व्यापर में लगने वाली मशीने  कई प्रकार की आती है जैसे स्वचालित , या अर्ध स्वचालित . किस प्रकार की मशीन हम लेना चाहते हैं यह पूरी तरह से हम पर निर्भर करता है .

  • वाटर जेट वाशर
  • लहसुन बल्क कटिंग मशीन
  • लहसुन पीलिंग मशीन
  • अदरक पीलिंग मशीन
  • अदरक लहसुन  का पेस्ट बनाने की मशीन
  • पेस्ट मिक्सर मशीन
  • वेट मशीन ( वजन की मशीन )
  • पैकेजिंग मशीन

अदरक एवं लहसुन का  पेस्ट बनाने की विधि :-

  • सबसे पहले अदरक और लहसुन दोनों को ही अच्छी  तरह से वाटर जेट मशीन की सहायता से  साफ़ पानी से धो लिया जाता है . जिस से उनमे लगा कचरा या  मिट्टी निकल सके .
  • जिसके बाद अदरक और लहसुन के छिलके निकलने के लिए पीलिंग मशीन का उपयोग किया जाता है , जिस से दोनों के छिलके पूरी तरह से अलग हो जाये .
  • अब अदरक और लहसुन का  पेस्ट बनाने  के लिए उसे क्रशर की मशीन में डाला जाता है , जहाँ पर दोनों को  अच्छे से पिस दिया जाता है .
  • अब इस पेस्ट को मिक्सर मशीन में डाला जाता है अदरक और लहसुन दोनों को आपस में अच्छी तरह से मिक्स किया जाता है .
  • इसके बाद इसे स्टील के बड़े से टेंक में डाल दिया जाता है .
  • इसके बाद इसमें आवश्यकतानुसार मसाले और प्रिसर्वेटिव डाल दिया जाता है .
  • अब अदरक लहसुन का पेस्ट पैकिंग के लिए तैयार है .

पैकंग और लेबल :-

अदरक और लहसुन का पेस्ट तैयार हो जाने के बाद उसे काँच या प्लास्टिक की बोतल में या फिर प्लास्टिक पाउच में भर कर तैयार किया जाता है , अब इस पर लेबलिंग की जाति है . पैकिंग कस्टमर की मांग के अनुसार छोटी या बड़ी की जा सकती है जैसे – 50 ग्राम , 100 ग्राम , 250 या 500 ग्राम .

फ़ूड लाइसेंस :-

खाद्य पदार्थों से सम्बंधित व्यापर के लिए fssai ( फ़ूड सेफ्टी और स्टैण्डर्ड अथारिटी ऑफ़ इण्डिया ) के लाइसेंस की आवश्यकता होती है , आप इस लाइसेंस के लिए ऑनलाइन आवेदन भी कर  सकते है , जिसके बाद खाद्य पदार्थ की सामग्री की गुणवत्ता की जांच की जाती  है . और अपने व्यापर को खाद्य विभाग में रजिस्टर्ड भी करवाना जरुरी होता है , जिस से हम अपने व्यापर को एक ब्रांड बना सके . इसके साथ ही G.S.T. रजिस्ट्रेशन करवाना भी आवश्यक है ,

टारगेट कस्टमर – अदरक  और लहसुन के पेस्ट को बाजार में बेचने के लिए हमे ग्राहक आसानी से मिल सकते है क्यूंकि हम सब जानते है की अदरक लहसुन के पेस्ट का उपयोग घरेलु तौर पर  तो किया ही जाता है साथ ही अब इसका उपयोग बड़े पैमाने पर व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में भी किया जाता है . अदरक लहसुन का पेस्ट खाने का स्वाद तो बढ़ाता ही है साथ ही इसमें कई प्रकार के औषधीय गुण भी पाए जाते है इसलिए इस पेस्ट का उपयोग बहुतायत कई जगहों पर  में किया जाता है . जैसे :-

  • होटल
  • भोजनालय
  • किराणा दुकान
  • सुपरमार्केट
  • कैंटीन , मेस
  • खाद्य प्रसंस्करण उद्योग
  • केटरिंग सेवाए
  • होस्टलों
  • हर्बल उत्पाद निर्माता
  • ढाबा 

अदरक और लहसुन के पेस्ट के व्यापार के लाभ :-

  • अधिकांश भारतीय व्यंजनों में अदरक एवं लहसुन का पेस्ट एक आवश्यक घटक है ,
  • जीवन शैली में परिवर्तन आने के कारण आज कल हर कोई तैयार समग्री खरीदना ही पसंद करता है .
  • घरों में इसकी व्यापक मांग है और वाणिज्यिक उपयोग के लिए भी उपयोगी है .
  • आमतौर पर इसकी 50 ग्राम की पैकेजिंग में अधिक मांग है और अधिक उपयोग के लिए 100 ग्राम से लेकर 500 ग्राम तक की पैकेजिंग उपलब्ध है .
  • अदरक लहसुन के पेस्ट की मांग सभी सीजन में होती है जिस से इसकी बिक्री प्राय: पुरे वर्ष ही होती रहती है .
  • यह व्यवसाय भारत के किसी भी स्थान पर शुरू किया जा सकता है क्योंकि अदरक लहसुन का पेस्ट मांसाहारी और शाकाहारी दोनों तरह के खाने में इस्तेमाल किया जाता है .

अदरक लहसुन के व्यवसाय से सम्बंधित कुछ मुख्य बिंदु :-

  • कम कीमत में सही समय पर कच्चे माल को सुरक्षित रखना बहुत जरुरी है .
  • खाद्य  उद्योग में गुणवत्ता और स्वछता की स्थिति बहुत महत्वपूर्ण है
  • जैसे ही मात्रा अच्छी पैकेजिंग के साथ बढती है ,  जल्द ही रिटेल मार्केट में भी प्रवेश कर सकते है .
  • एक अच्छे नेटवर्क का निर्माण और स्थानीय ग्राहकों के साथ सम्बन्ध बहुत महत्वपूर्ण है .
  • ग्रामीण बाजार से भी व्यापर शुरू किया जा सकता है .
  • अपने उद्योग को सोशल मार्केटिंग वेबसाईट के साथ भी जोड़े जैसे – जस्ट डायल , इंडियामार्ट , ट्रेड इण्डिया .
  • जैसे – जैसे व्यवसाय बढ़ता है अपना सामान ऑनलाइन  वेबसाइट्स पर भी बेच सकते  है जैसे – अमेजन , फ्लिपकार्ट , बिगबास्केट , ग्रोफर्स , जिओ मार्ट आदि .

Other Links

  1. ड्रॉपशिपिंग का व्यापार कैसे शुरू करें 
  2. टोमेटो सॉस बनाने का व्यापार शुरू करें 
  3. सीएससी डिजिटल सेवा केंद्र कैसे खोले  
  4. किराना की दुकान कैसे खोलें 

Leave a Reply

Your email address will not be published.