गांव या छोटे शहरों के लोगों के लिए ईंट बनाने का व्यवसाय है बेहतरीन, कमाई होती हैं लाखों में

ईंट बनाने का व्यवसाय, मशीन, कीमत, तरीका, विधि, छोटी मशीन, प्राइस, सांचा, उद्योग (Brick Manufacturing Business Plan, Making Machine, Material, Cost, Profit in Hindi)

यदि आप कोई अच्छा व्यवसाय प्रारंभ करने का विचार कर रहे हैं तो ईंट या ब्रिक बनाने का व्यवसाय आज के समय में आपको अच्छी कमाई वाला व्यवसाय साबित हो सकता है। आप इस व्यवसाय को छोटे स्तर पर भी प्रारंभ कर सकते हैं और बड़े स्तर पर भी। लेकिन छोटे पैमाने से आरंभ करते हुए बड़े पैमाने तक जाना ज्यादा सरल होता है और फायदेमंद भी। पहले के समय में केवल मिट्टी से बनी ईंटे उपयोग में लाई जाती थी परंतु धीरे-धीरे सीमेंट से बनी ईटों की मांग भी बढ़ने लगी है और इनका उपयोग अधिक मात्रा में होने लगा है। इस व्यवसाय को किस प्रकार आप आसानी से प्रारंभ कर सकते हैं इस प्रक्रिया को विस्तार पूर्वक जान लेते हैं।

brick making business

ईंट बनाने का व्यवसाय का प्लान

ईट बनाने के व्यापार को शुरू करने से पहले एक छोटा सा कच्चा चिट्ठा इस व्यापार के बारे में तैयार करना आवश्यक है। जैसे आप अपना व्यवसाय किस स्थान से प्रारंभ करना चाहते हैं कच्चा माल किस प्रकार आप अपने स्थान तक मंगाना चाहते हैं? व्यवसाय के अनुकूल परिस्थितियां आपके आसपास है अथवा नहीं?  इन सभी परिस्थितियों की जांच पड़ताल करना ही आपके बजट प्लान में शामिल होता है।

ईंट बनाने का व्यवसाय के लिए जगह

किसी भी व्यापार को आरंभ करके उसे सक्षम बनाने में सबसे महत्वपूर्ण योगदान स्थान का होता है। आप किस प्रकार अपना कार्य आरंभ करेंगे कंस्ट्रक्शन और बिक्री से जुड़ी सभी गतिविधियों को किस प्रकार अंजाम देंगे यह सब आप के स्थान पर निर्भर करता है। ईटों को बनाने के व्यापार के लिए एक उचित स्थान की आवश्यकता होती है जहां पर आसानी से सामान लाया भी जा सके और ले जा भी जा सके। इस व्यापार के लिए आपको किसी दुकान की नहीं अन्यथा एक ऐसे स्थान की आवश्यकता होगी जहां से आप सीधे ग्राहक भी बना सके और ठेकेदार जैसे लोगों को अपना माल सप्लाई भी कर सकें।

इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए एक ऐसे स्थान की आवश्यकता होती है जो आपके व्यापार के लिए अति आवश्यक है जहां पर पानी की सुविधा भी प्रचुर मात्रा में हो। कोशिश करें आप एक ऐसे स्थान का चुनाव करें जो आपको कम मूल्य पर भी प्राप्त हो सके। ताकि आप माल ढुलाई और अन्य खर्चो का वहन भी आसानी से कर सकें। अनुभव के अनुसार ईटों का व्यवस्थाएं सुचारू रूप से चलाने के लिए लगभग किसी भी व्यक्ति को 1000 स्क्वायर फीट की जगह की आवश्यकता तो होगी ही।

ईंट बनाने के लिए मशीनरी और अन्य साधन

आपको तो पता ही है कि किसी भी व्यवसाय में माल बनाने के लिए विभिन्न प्रकार की मशीन और कच्चे सामान की आवश्यकता होती है। ठीक उसी प्रकार ईंट बनाने के लिए भी मिट्टी, सीमेंट, राखड़ जैसी वस्तुओं की आवश्यकता होती है। इन सभी सामानों को उचित मात्रा में मिलाकर कारीगरों द्वारा हाथों से ईंट के सांचे तैयार किए जाते हैं। जिन्हें पुराने तरीकों के अनुसार ही आग में जलाकर ही तैयार किया जाता है। हालांकि जैसे-जैसे तकनीक में बदलाव आया है वैसे-वैसे ईटों की बनाने की स्वचालित मशीनें भी आसानी से बाजार में उपलब्ध हो गई है। परंतु इन मशीनों को प्राप्त करने के लिए आपको कम से कम 3 लाख की राशि की आवश्यकता होगी।

कहाँ से खरीदें –

यदि आप ईट बनाने की मशीन उचित दामों पर खरीदना चाहते हैं, हमारे द्वारा सुझाए गए लिंक पर जाकर आप आसानी से मशीनें खरीद सकते हैं।

  • dir.indiamart.com/
  • alibaba.com/

ईंट बनाने के व्यवसाय की ट्रेनिंग

कहते हैं ना किसी के बिना सीखे तो कोई भी काम कर पाना मुश्किल होता है। ईटों के व्यापार को सुचारू रूप से चलाने और सक्षम बनाने के लिए आपको इस बात की ट्रेनिंग लेना अति आवश्यक है कि ईंटे किस प्रकार बनाई जाती हैं। ऐसे बहुत से बड़े बड़े प्लांट लगे हुए हैं जहां पर बड़े पैमाने पर ईट बनाने का काम किया जाता है। ऐसे स्थानों पर जाकर आप अपने व्यवसाय को प्रारंभ करने से पहले ट्रेनिंग अवश्य ले लें ताकि आप अपने व्यापार में सक्षम हो सकें। यदि आप इंटे बनाने की मशीनें खरीदते हैं तो मशीन बेचने वाले लोग भी आपको कुछ समय के लिए ट्रेनिंग प्रदान करने की प्रक्रिया करते हैं।

जो लोग मशीन चलाना जानते हैं वह मशीन पर काम भी करते हैं और साथ ही यदि आप उनके काम को सीखते हैं और उनके साथ काम करने लगते हैं तो उसके बदले में आपको तनख्वाह भी प्रदान कर सकते हैं।

ईंटे बनाने की विधि

यह बात तो हम आपको पहले भी बता चुके हैं कि बाजार में बहुत सारी मशीनरी ऐसी उपलब्ध है जो स्वचालित है। मतलब अपने आप काम करके मानव के थोड़े बहुत सहयोग के साथ उचित ईंटे बना सकती हैं। परंतु हस्त कारीगर भी विभिन्न प्रकार से इंटे बनाने का काम करते हैं जिसकी छोटी सी प्रक्रिया हम आपको यहां पर बताने जा रहे हैं:-

  • कच्चे माल को उचित अनुपात में मिलाना :– माल कोई सा भी तैयार किया जाए यदि अच्छी गुणवत्ता का चाहिए हो, तो सभी सामान उचित मात्रा में मिलाना अति आवश्यक होता है। इसी प्रकार उचित गुणवत्ता वाली की ईंटे बनाने के लिए सीमेंट, पत्थरों के टुकड़े और मिट्टी का अनुपात 1:6 होता है जिसके अनुसार ही सामान मिलाने पर उचित ईंटे तैयार की जा सकती हैं।
  • मिक्सिंग :- उचित मात्रा में इकट्ठे किए गए सामान को सही प्रकार से मिक्सिंग करना ईटों के निर्माण का अगला चरण होता है। मिक्सिंग के दौरान सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण ध्यान रखने वाली बात यह है कि मिश्रण में पानी अच्छी तरीके से डाला जाए ताकि मिश्रण पूरी तरह गीला हो जाए। मिश्रण को पूरी तरह से गीला करने के बाद उस मिश्रण को कंक्रीट गोल के साथ डाल दिया जाता है, और लगभग 1 से 2 मिनट तक इसे घुमाना आवश्यक होता है। इस प्रक्रिया से मिक्सिंग का मिश्रण पूरी तरह से आपस में एक दूसरे कच्चे माल के साथ मिक्स हो जाता है।
  • मिश्रण को सही शेप देना :- जब मिश्रण पूरी तरह से तैयार हो जाता है तो ईंट बनाने वाले खोखले सांचो में उन्हें डाला जाता है। अब यह कारीगरों पर निर्भर करता है कि वह किस आकार की ईट तैयार करना चाहते हैं वह उसी आकार के सांचे में उस मिश्रण को डाल देते हैं। मिश्रण से भरे उन सांचो को 24 घंटे तक तेज धूप और तेज हवा से दूर रखना होता है ताकि वह खराब ना हो जाए।
  • सुखाना :- ईटों के सांचे के अंदर थोड़ी नमी बाकी रह जाती है जिसकी वजह से वह गोल हल्का सा सिकुड़ने लगता है। यदि यह हल्के छांव में धीरे-धीरे सूखे तो ही ज्यादा अच्छा रहता है इसके अलावा आप इसे सुखाने के लिए मशीनों को भी प्रयोग मे ला सकते हैं।

ईट बनाने की यह सबसे सरल प्रक्रिया हमने आपको यहां पर बताई है इस प्रक्रिया का सही रुप से पालन करने के बाद आसानी से ईंटे तैयार हो जाती है जिसे आप बाजार में बेच सकते हैं।

ईंट बनाने के व्यवसाय में प्रॉफिट

पहले तो घरों को बनाने में मिट्टी की ईंटों का ही इस्तेमाल किया जाता था तो आमतौर पर मिट्टी की ईट ही बाजार में उपलब्ध होती थी। परंतु साल 2012 के दौरान जब मिट्टी के अवैध खनन पर सुप्रीम कोर्ट ने पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया तब सीमेंट की ईंटों का व्यापार मार्केट में बढ़ने लगा। सीमेंट से बनी ईट आमतौर पर सीमेंट के मूल्य पर निर्धारित करती हैं क्योंकि सीमेंट का मूल्य दिन-प्रतिदिन बढ़ता और घटता रहता है।

यदि आम तौर पर इस व्यापार को करने में एक अनुमानित आंकड़े के अनुसार प्रॉफिट की बात की जाए तो 1 महीने के अंदर यदि आप एक लाख ईंटे बेच देते हैं, तो अन्य खर्चों को कम करने के बाद लगभग 1.5 से लेकर 2 लाख तक की कमाई आप आसानी से कर सकते हैं। यदि आप सुचारू रूप से काम करते हैं तो आप आने वाले 1 महीने के अंदर एक लाख से ज्यादा ईटों का निर्माण करके अधिक मुनाफा भी कमा सकते हैं। 

ईंटे बनाने के व्यवसाय में लगने वाली लागत

यदि आप ईंट बनाने का व्यवसाय प्रारंभ करने की योजना बना चुके हैं तो उसके लिए आपको पूरा प्लांट तो सेट करना ही पड़ेगा। छोटे पैमाने पर आरंभ करने के लिए भी आपको मशीनों के अलावा कच्चा माल जगह और अन्य कई प्रकार के खर्चों का वहन करना पड़ेगा। मान लीजिए अगर आप छोटे स्तर पर भी इस कार्य को प्रारंभ करने की सोच रहे हैं तो अनुमानित खर्चों के अनुसार 15 से 20 लाख रुपए की लागत की आवश्यकता तो आपको पड़ेगी ही। बड़े स्तर पर इस व्यवसाय को प्रारंभ करने के लिए आपको लागत भी उसी के हिसाब से चाहिए होती है इसके अलावा कच्चे माल के लिए लगभग 2 से 3 लाख और बिजली कनेक्शन और अन्य खर्चों के लिए 1 से 2 लाख रुपए का खर्च आपको करना पड़ सकता है।

सीमेंट की ईंटो की मांग बाजार में क्यों बढ़ रही है?

मिट्टी की ईंटों के इस्तेमाल से पहले घर इतने मजबूत नहीं हुआ करते थे परंतु सुप्रीम कोर्ट ने जब से अवैध खनन पर रोक लगा दी है उसके बाद धीरे-धीरे जब लोगों ने सीमेंट की ईंटों की तरफ रुख किया तो लोगों का रुझान सीमेंट की ईट के प्रति ज्यादा अच्छा रहा। क्योंकि ऐसा कहा जाता है कि सीमेंट की ईट से बने घर में पानी की वजह से नमी जल्दी नहीं आती है और साथ ही सीमेंट की ईंटों से बनाए गए घरों में फिनिशिंग भी अच्छे प्रकार से दी जा सकती है। साथ ही विभिन्न प्रकार के डिजाइन बनवाने के लिए सीमेंट की इंटे ही ज्यादा बेहतर मानी गई है।

उम्मीद है ईटों के व्यवसाय से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी हमारी इस पोस्ट के जरिए आपको प्राप्त हो गई होगी। परंतु फिर भी यदि इस व्यापार से जुड़े हुए किसी भी प्रश्न का जवाब यदि आप जानना चाहते हैं तो आप सीधे हमसे संपर्क कर सकते है।

FAQ’s

Q : क्या ईंट बनाने का व्यवसाय लाभकारी है ?

Ans : हाँ, इससे आप लाखों की कमाई कर सकते हैं.

Q : ईंट बनाने की फैक्ट्री कैसे खोलें ?

Ans : इसके लिए प्लानिंग करनी होगी जैसे उपयुक्त जगह, रॉ मटेरियल की व्यवस्था, रजिस्ट्रेशन आदि.

Q : एक ईंट बनाने में कितनी लागत लगती है ?

Ans : कम से कम 25 से 30 हजार रूपये.

Q : क्या ईंट पत्थर से ज्यादा सस्ती होती है ?

Ans : दोनों ही सस्ते एवं टिकाऊ है. ईंट से ज्यादा मजबूत पत्थर होता है, और ईंट ज्यादा सस्ता भी होता है.

Q : ईंट के घर कितने समय तक चलते हैं ?

Ans : 100 साल

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *