High Profitable Business : अपने शहर में रहकर शुरू करें राइस मिल, बहुत जल्द बन जायेंगे लखपति, जानिए प्रक्रिया

राइस मिल बिजनेस, प्लान, चावल मिल उद्योग, मशीनरी, प्रक्रिया, प्राइस, प्रोजेक्ट कॉस्ट, सब्सिडी स्कीम (Rice Mill Business Plan in Hindi) (Machine, Price, Project, Plant, Investment, Profit, License) 

हम सभी लोग जानते हैं, हमारे देश की अर्थव्यवस्था में निरंतरता बनाए रखने में कृषि क्षेत्र का अपना महत्वपूर्ण योगदान रहता है. हम कृषि क्षेत्र से जुड़े हुए अनेकों प्रकार के व्यवसाय भी कर सकते हैं और लाभ कमा सकते हैं. हमारे देश में सभी प्रकार के फसलों का उत्पादन किया जाता है. परंतु सबसे ज्यादा चावल ही एक ऐसा खाद्यान्न हैं, जिसकी हमारे देश में 44% से भी अधिक हिस्सेदारी सभी फसलों में होती है. यदि आप पैसे से जुड़ा हुआ व्यापार करना चाहते हैं, तो आप चावल मिल का व्यापार आसानी से शुरू कर सकते हैं और यह व्यापार आपको हमेशा लाभ प्रदान करेगा. आज हम इस लेख में इसी विषय पर आपको स्टेप बाय स्टेप जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

rice mill business in hindi

किराना की दुकान शुरू करके कमा सकते हैं प्रतिमाह 15 से 20 हजार, जानिए कैसे.

भारत में राइस मिल के व्यापार की मांग (Market Research)

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं, ज्यादातर हमारे देश की जनसंख्या सभी प्रकार के अनाजों में चावल को सबसे पहले प्राथमिकता देती हैं. रोज बनने वाले भोजन में चावल अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है. यहां तक की हमारे देश से बाहरी देशों में जैसे कि सऊदी अरब, इराक, ईरान, यूनाइटेड अरब एमिरेट्स एवं कुवैत जैसे देशों में बासमती चावल निर्यात किया जाता है. यही कारण है, कि हमारे देश में राइस मिल के व्यापार की मांग हमेशा बनी रहती है और इस व्यापार को करने पर मुनाफा भी अच्छा प्राप्त होता है.

राइस मिल का व्यापार करने के लिए कच्चा माल (Raw Material)

चावल की मिल का व्यापार शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले कुछ कच्चा माल की आवश्यकता पड़ेगी, जो इस प्रकार से है.

  • चावल के खेत :- यदि आप बड़ी मात्रा में चावल की खेती करते हैं, तो यह व्यापार आपके लिए काफी ज्यादा लाभकारी सिद्ध हो सकता है. ध्यान रहे आपको यह व्यापार करने के लिए साल भर का पूरा एकत्रित कच्चा माल चाहिए होगा.
  • किसानों से या बाजार से धान खरीदना :- यदि आप चावल की खेती नहीं करते हैं, परंतु चावल मिल का व्यापार शुरू करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको चावल की खेती को करने वाले किसानों एवं बाजारों से धान को खरीदना होगा. यदि आप चावल के सीजन में पूरे साल भर का कच्चा माल खरीदेंगे, तो आपको सस्ता पड़ेगा. यदि आप यही ऑफ सीजन में खरीदेंगे, तो यह आपके लिए काफी ज्यादा महंगा हो सकता है.

गांव के लोगों के लिए बड़े मुनाफे वाले हैं ये गांव के व्यवसाय, शुरू करने से होती हैं बेहतरीन कमाई, जानिए कैसे.

राइस मिल शुरू करने के लिए मशीनरी, मूल्य एवं कहां से खरीदें (Machinery)

इस व्यापार में हमें चावल को बाजार में बेचने योग्य बनाने के लिए धान को कई प्रक्रियाओं से होकर तैयार करना होता है. चावल को हमें कई आधुनिक मशीनरी की सहायता से उसे बेचने योग्य एवं बाजार में उतारने योग्य बनाना बेहद आवश्यक है. यदि आप थोड़े कम आधुनिक युग की मशीनें भी को खरीदेंगे, तो आपको एक लाख रुपए का निवेश करना होगा और यदि वहीं पर आप एकदम आधुनिक मशीनरी को खरीदना चाहते हैं, तो आपको कम से कम 3 से 4 लाख रुपयों का निवेश करना ही होगा. आइए जानते हैं, राइस मिल के व्यापार में लगने वाली मशीनरी कौन-कौन सी है,

  1. राइस क्लीनिंग मशीन
  2. राइस डे-स्टोनर मशीन
  3. पेड़ी हसकर (Husker) मशीन
  4. राइस कलर सोर्टर
  5. पेड़ी सेपरेटर मशीन
  6. राइस व्हाइटनर मशीन
  7. राइस पोलिशिंग मशीन
  8. ग्रेडिंग मशीन
  9. ग्रैन ड्रायर
  10. मेजर एंड पैकिंग मशीन
  11. राइस मिल्लिंग डिटेक्शन मशीन

ध्यान दें :- इन सभी मशीनरी को आप इंडिया मार्ट या अलीबाबा जैसी वेबसाइट में विजिट करके आर्डर देकर मंगा सकते हैं.

राइस मिल में चावल तैयार करने की प्रक्रिया (Making Process)

धान को हमें चावल के रूप में परिवर्तित करके उसे बाजार में बेचने योग्य बनाने के लिए कई प्रक्रियाओं से तैयार करना होता है. चलिए जानते हैं, कि चावल को तैयार करने की क्या प्रक्रिया है –

  • पूर्व सफाई :- सबसे पहले इस प्रक्रिया में हमें खराब अनाज को हटाना है और अच्छे अनाज को एक तरफ रखना है.
  • डी – स्टोलिंग :- इस प्रक्रिया में हमें धान में मौजूद छोटे छोटे पत्थरों को अलग करना होता है.
  • पर्बोलिंग :- इस प्रक्रिया में हमें चावल की गुणवत्ता और पौष्टिकता को बरकरार रखने के लिए कार्य करना होता है.
  • हस्किंग :- इस प्रक्रिया के अंतर्गत हम चावल में मौजूद हस्क को अलग करने का काम पूरा करते हैं.
  • हस्क एसपिरेशन :- इस प्रक्रिया के अंतर्गत हम ध्यान में से उसमें मौजूद भूसी को अलग करते हैं.
  • धान का पृथक्करण :- इस प्रक्रिया में से हम धान एवं चावल को अलग करने का कार्य पूरा करते हैं.
  • व्हाइटनिंग :- इस प्रक्रिया में हम चावल के ऊपर मौजूद ब्राउन कलर के परत को हटाते हैं और इसे स्वच्छता का रूप प्रदान करते हैं, जिससे चावल में व्हाइटनिंग आ सके.
  • पॉलिशिंग :- इस प्रक्रिया में हम चावल में शाइनिंग लाते हैं और उसे चमकदार बनाते हैं, ताकि लोग उसे खरीद सके.
  • लेंथ ग्रेडिंग :- इस प्रक्रिया में अलग-अलग साइज के चावल को एक तरफ किया जाता है और एक्साइज के चावल पर एक क्वालिटी के साथ एकत्रित किया जाता है.
  • पैकेजिंग :- इस प्रक्रिया में सभी प्रक्रियाओं को पूरा हो जाने के बाद अंतिम में हमें चावल की पैकेजिंग करनी होती है और इसे बाजार में बिकने के लिए भेज देना होता है.

फिनाइल की गोली बनाने का बिज़नेस करके 40 हजार रूपये तक का मुनाफा प्रतिमाह कमा सकते हैं, ये है आसान तरीका.

चावल मिल व्यापार के लिए स्थान का चयन (Location)

इस व्यापार में आपको अपने लिए एक ऐसे स्थान का चयन करना है, जहां पर किसान भाई बहन आपको कच्चा माल आसानी से पहुंचा सके अर्थात आपको जहां पर चावल की खेती होती है, उसी के नजदीकी स्थान पर व्यापार को शुरू करना है. इसके अतिरिक्त एक ऐसे स्थान का चयन करना है, जहां पर कच्चे माल को रखा जा सके एवं माल को तैयार करने के बाद उसका भंडारण किया जा सके. इसके अतिरिक्त हमारी मशीनरी भी एवं सभी कर्मचारी भी पूरे स्थान में अच्छे से काम कर सके. मतलब कि इस व्यापार को प्रारंभ करने के लिए आपको एक बड़े स्थान की आवश्यकता पड़ेगी.

चावल मिल के व्यापार को शुरू करने के लिए लाइसेंस या पंजीकरण (License and Registration)

किसी भी प्रकार के व्यवसाय को प्रारंभ करने के पहले हमें उस व्यापार से संबंधित लाइसेंस का पंजीकरण की आवश्यकता पड़ती है, ताकि हम अपने व्यापार को बिना किसी व्यवधान के शुरू कर सके. चावल मिल के व्यापार को प्रारंभ करने के लिए आपको इस प्रकार से निम्न लाइसेंस या पंजीकरण की आवश्यकता पड़ेगी.

  • राइस मिल के व्यापार को प्रारंभ करने के लिए सबसे पहले आपको अपने व्यापार के लिए आरओसी बनवाना होगा.
  • इस व्यापार को प्रारंभ करने के लिए आपको उद्योग आधार एवं एमएसएमई रजिस्ट्रेशन के अंतर्गत पंजीकृत करना होगा.
  • इसके अतिरिक्त आपको फैक्ट्री खोलने के लिए फैक्ट्री लाइसेंस की आवश्यकता पड़ेगी.
  • यह एक ऐसा व्यापार है, जिसमें आपको मशीनरी की आवश्यकता पड़ेगी और इस दृष्टिकोण से हमें प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से प्रदूषण से संबंधित लाइसेंस भी प्राप्त करना होगा.
  • इन सभी लाइसेंस के अतिरिक्त आपको उद्योग अधिनियम 1958 के अंतर्गत अपने व्यापार के लिए लाइसेंस प्राप्त करने हेतु आवेदन देना होगा.
  • इनके अतिरिक्त आपको वेट पंजीकरण करवाना होगा एवं अपने कर्मचारियों को पिया प्रदान करने एवं ईएसआईसी पंजीकरण के नियमों का भी आपको पूरी तरह से पालन करना अनिवार्य होगा.
  • यदि आप अपने व्यापार को बड़ा करने एवं इसे विदेश में निर्यात करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको आईईसी रजिस्ट्रेशन भी करवाना होगा.

जीएसटी सुविधा केंद्र खोलने के लिए ऐसे करें रजिस्ट्रेशन, कमा सकते हैं अच्छा खासा पैसा.

चावल मिल के व्यापार के लिए स्टाफ का चयन (Staff)

इस व्यापार में आपको कुछ स्टाफ मेंबर की भी आवश्यकता पड़ेगी. कच्चे माल को इधर से उधर ले जाने एवं तैयार माल को पैकेजिंग करने एवं उसे एक सुरक्षित स्थान पर रखने से संबंधित कर्मचारी आपको चाहिए होंगे. इसके अतिरिक्त कामों की विवरण एवं उनकी देखभाल करने के लिए एक विशेष कर्मचारी की आवश्यकता आपको पड़ेगी. उद्योग में चलने वाले मशीनरी को भी चलाने वाले व्यक्तियों की आवश्यकता पड़ेगी. इन सभी स्टाफ मेंबर को आप अपने लोकल क्षेत्र से ढूंढ सकते हैं और उन्हें थोड़ा बहुत आवश्यक प्रशिक्षण भी व्यापार से संबंधित प्रदान कर सकते हैं.

चावल की पैकेजिंग (Packaging)

इस व्यापार में हमें विशेष रूप से पैकेजिंग पर ध्यान देना चाहिए. जब हम चावल को एक स्थान से दूसरे स्थान पर निर्यात करते हैं, तो उस दौरान चावल कई छोटी बड़ी समस्याओं से होकर गुजरता है. हमें अपने चावल को एक ऐसे पैकेट में पैक करना है, जिसमें से वह आसानी से फटकर गिरने ना पाए एवं उसके अंदर किसी भी प्रकार की नमी ना जाने पाए. आप अपने चावल को उसके वजन के अनुसार पैकेजिंग कर सकते हैं एवं अपने पैकेट पर अपने ब्रांड के ब्रांड नहीं एवं उसका पूरा एड्रेस भी अवश्य मेंशन करें, ताकि लोग आपसे जुड़ना चाहे तो आसानी से जुड़ सकें.

गत्ते के डिब्बे का बिज़नेस : लाखों कमाने का मिल रहा है मौका जानिए कैसे.

चावल मिल व्यापार को प्रारंभ करने के लिए कुल निवेश (Investment)

चावल मिल के व्यापार को प्रारंभ करने में हमें कम से कम 3 से लेकर 4 लाख रुपए का निवेश करना होगा. इस निवेश में आप मशीनरी से लेकर पैकेजिंग का खर्चा उठा सकते हैं.

चावल मिल के व्यापार से लाभ (Benefit)

यदि आपका यह व्यापार चल जाता है तो आप आसानी से इस व्यापार से हर महीने 40 से लेकर 50 हजारों रुपए की इनकम आसानी से कर सकते हैं. और जब आपका व्यापार बड़ा होगा तो आपको इससे भी ज्यादा मुनाफा होने की संभावनाएं प्राप्त होने लगेंगी.

हर महीने लाखों की कमाई करने के लिए शुरू करें बेकिंग पाउडर बनाने का बिज़नेस, होगी बेहतरीन कमाई.

चावल मिल व्यापार की मार्केटिंग (Marketing)

चावल मिल व्यापार को आपको सफल बनाने के लिए इसकी मार्केटिंग करनी बहुत जरूरी है. आप बड़े बड़े किराना स्टोरों पर अपने व्यापार से संबंधित उनको जानकारी दे सकते हैं और उन्हें थोड़ा कम दामों पर अपने माल को उपलब्ध कराने का एक ऑफर भी दे सकते हैं. इसके अतिरिक्त आप अपने व्यापार का विज्ञापन ऑनलाइन एवं ऑफलाइन तरीकों से भी दें सकते हैं.

चावल मिल के व्यापार में जोखिम (Risk)

आजकल यह व्यापार काफी मांग में है और इस व्यापार में जोखिम के संभावना बिल्कुल ना के बराबर आपको मिलने वाली है. आज के समय में लगभग चावल मिल की जनसंख्या में बहुत कमी है और ऐसे में यदि आप चावल मिल का व्यापार करते हैं, तो यह आपके लिए काफी मुनाफे दार बिजनेस हो सकता है.

घर के मसालें बनाने का बिज़नेस घर से शुरू करें और लाखों की कमाई करें.

आप बड़ी ही आसानी से चावल मिलकर व्यापार को प्रारंभ करके हर महीने अच्छा पैसा कमा सकते हैं. इस व्यापार में थोड़ा आपको निवेश करना पड़ेगा, परंतु इस व्यापार में आपको प्रतिस्पर्धा बहुत कम मिलने वाली है.

FAQ

Q : चावल मिल के व्यापार को कहां पर प्रारंभ कर सकते हैं ?

Ans : चावल मिल के व्यापार को आपको नजदीकी चावल की खेती करने वाले किसानों के पास से प्रारंभ करना है और इसे शुरू करने के लिए एक बड़े स्थान की भी जरूरत आपको पड़ेगी.

Q : चावल मिल के व्यापार को कौन शुरू कर सकता है ?

Ans : चावल मिल के व्यापार को कोई भी व्यक्ति शुरू कर सकता है.

Q : चावल मिल व्यापार को प्रारंभ करने के लिए क्या लाइसेंस की आवश्यकता पड़ती है ?

Ans : चावल मिल के व्यापार को प्रारंभ करने के लिए आपको लाइसेंस की आवश्यकता पड़ेगी और इसकी जानकारी ऊपर पढ़ें.

Q : चावल मिलकर व्यापार को प्रारंभ करने के लिए हमें कुल कितना निवेश करना होगा ?

Ans : 3 से 4 लाख रुपयों का निवेश करना होगा.

Q : चावल मिल के व्यापार से हमें कुल कितना लाभ हो सकता है ?

Ans : चावल मिल के व्यापार को करके हम महीने के 50 से 80 हजार रुपए की इनकम कर सकते हैं.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published.